क्राइम

देश के भगौड़े को कंडोम से एलर्जी , पत्नी को पीटने से परहेज़ नहीं!

विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक ज़ाकिर नाइक के भारत लौटने की उम्मीदों को फिर झटका लगा है। खबर मिल रही थी कि ज़ाकिर नाइक मलेशिया से भारत लौट रहा है। मलेशियाई सरकार के उसे भारत को सौंपने की खबर थी , लेकिन खुद ज़ाकिर नाइक और उसके वकील ने खबरों का खंडन कर दिया है। कहा जाता है कि 2016 में ढाका में आतंकवादी हमले में शामिल आतंकियों को ज़ाकिर नाइक के भाषणों से ही प्रेरणा मिली थी। इसके बाद ज़ाकिर नाइक के भड़काऊ और विवादित बयानों की पड़ताल शुरू हो गई थी। अपने खिलाफ कार्यवाही से डरे ज़ाकिर नाइक ने देश लौटने से ही इनकार कर दिया था और तभी से भारत सरकार उसे मलेशिया से लाने की कोशिशों में जुटी है। वो मलेशिया के पुत्राजाया में रहता है और उसे स्थायी निवास की अनुमति भी मिल चुकी है।

ज़ाकिर नाइक पीस टीवी के ज़रिए ऐसे-ऐसे बयान दे चुका है कि आप अचरज में पड़ जाएंगे। आइए आपको उसके कुछ ऐसे ही बयान बताते हैं जिन्होंने उसे विवादित बना डाला।

1. इस्लाम सभी धर्मों में श्रेष्ठ है। इस्लामिक देशों में गैर मुस्लिमों को धार्मिक स्थल नहीं बनाने देना चाहिए।

2. मुस्लिमों को अपनी महिला गुलामों के साथ सेक्स का पूरा अधिकार है।

3. टेनिस स्टार सानिया मिर्जा को खेलते समय गरिमामय कपड़े पहनने चाहिए। बीच वॉलीबॉल को लेकर नाइक ने कहा था कि कोई भी भारतीय अपनी बेटी को ये खेल नहीं खेलने दे सकता।

4. लड़कियों को ऐसे स्कूलों में नहीं भेजना चाहिए जहां वो अपना कुंवारापन यानि वर्जिनिटी खो दें। ज़ाकिर के मुताबिक महिलाओं को सोने के गहने पहनने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

5. सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल किसी इंसान को मार देने जैसा है।

6. पश्चिम के देश में महिलाओं की आजादी के नाम पर अपनी मां-बेटियों को बेच रहे हैं।

7. ज़ाकिर नाइक के मुताबिक मुस्लिम समाज में पत्नियों को पीटना जरूरी नहीं है कि बुरी बात ही मानी जाए।

8. ज़ाकिर नाइक का कहना है कि शरिया कानून के मुताबिक शादी के बाद किसी और से संबंध बनाने पर पत्थर से मार डालने की सज़ा एकदम सही है।

9. ज़ाकिर नाइक का मानना है कि होमोसेक्सुअल्स को मार डालना जायज़ है।

10. ज़ाकिर नाइक ने दुर्दांत आतंकी ओसामा बिन लादेन की निंदा करने से साफ इनकार कर दिया था।

इस्लाम के नाम पर दिए गए ज़ाकिर नाइक के बयानों ने उसे काफी समय से सुर्खियों में जगह दिलवाई थी, लेकिन बांग्लादेश में आतंकी हमले के बाद उसके अच्छे दिन खत्म हो गए। उसके खिलाफ सांप्रदायिक अशांति फैलाने, मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग के कई मामले दर्ज हुए। उसके ठिकानों पर एजेंसी ने छापेमारी की, जिसके बाद उसके सिर पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी। मलेशिया में छिपे ज़ाकिर नाइक ने अपने बचाव में कहा है कि उसे डर है कि भारत में उसके खिलाफ मामला पक्षपातपूर्ण ढंग से चलेगा, जब तक ये खतरा नहीं खत्म होता वो भारत नहीं लौटेगा।

To Top
Shares