देश

क्या बीजेपी में शत्रुघ्न सिन्हा का सफर खत्म होने वाला ?

रमजान के पाक महीने में दिल्ली से लेकर पटना तक तमाम दलों के नेताओं ने इफ्तार पार्टी का आयोजन किया। दिल्ली में जहां राहुल गांधी और बीजेपी के मुख्तार अब्बास नकवी ने इफ्तार पार्टी दी, तो वहीं पटना में आरजेडी और जेडीयू की तरफ से इसका आयोजन किया गया। वैसे तो हर नेता की इफ्तार पार्टी खास रही, लेकिन बीजेपी शत्रुघ्न सिन्हा के पहुंचने से आरजेडी की इफ्तार पार्टी चर्चा के केंद्र में रहा।

बिहार के पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा आरजेडी के इफ्तार पार्टी में शामिल होने से सूबे में सियासी पारा एक बार फिर से गर्म हो गया। ऐसा होना भी लाजिमी था। क्योंकि पटना में ही हज हाउस में जेडीयू की ओर से भी एक इफ्तार पार्टी दी गई थी। लेकिन बीजेपी सांसद तेजस्वी की इफ्तार पार्टी में पहुंचकर सबको हैरान कर दिया। इतना ही नहीं यहां पहुंचे बीजेपी सांसद ने जो कुछ कहा, उसके बाद तो उनके आरजेडी में जाने की अटकलें भी लगाई जाने लगी।

दऱअसल आरजेडी के दावत-ए-इफ्तार में शामिल हुए बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने आगामी लोकसभा चुनाव लालू की पार्टी से लड़ने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि अगले चुनाव में जहां भी रहे, लोकेशन यहीं होगा। उन्होंने कहा लालू जी से पारिवारिक संबंध है, इस नाते आया। जेडीयू से बुलाया जाता तो जरूर जाता। हालांकि आरजेडी के टिकट पर अगला चुनाव लड़ने के सवाल को वो ये कहकर टाल गए कि ये कहानी फिर कभी। लेकिन उनके बगल में बैठे तेजप्रताप ने कहा क्यों नहीं, तो शत्रुघ्न सिन्हा ने भी कहा, ‘तेजप्रताप के मुंह में घी शक्कर’।

वहीं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी शत्रुघ्न सिन्हा के इफ्तार पार्टी में पहुंचने पर खुशी जाहिर की। आरजेडी में उनके आने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि ये फैसला उन्हें करना है, लेकिन कौन ऐसी पार्टी है, जो अपने दल में शत्रुघ्न सिन्हा को शामिल नहीं करना चाहेगी। जाहिर है बीते कुछ समय से शत्रुघ्न सिन्हा की आरजेडी और उसके नेताओं के साथ करीबी बढ़ी है, उससे उनके लालू की पार्टी में शामिल होने के भी कयास लगाए जा रहे हैं।

To Top
Shares