राजनीति

क्या बिहार NDA में जल्द होने वाली है बड़ी टूट ?

आखिर आरजेडी नेता के दावों में कितना दम है ?

आगामी लोकसभा चुनाव के होने में अभी भले ही करीब 6 महीने से ज्यादा का वक्त बाकी हो। लेकिन बिहार की तमाम सियासी दलों ने अपना-अपना कुनबा बढ़ाने और उन्हें एकजुट रखने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। लेकिन इसके साथ ही सूबे में सियासी बयानबाजी भी अपने चरम पर पहुंच गई है।

इसी बीच आरजेडी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश सिंह ने एनडीए में टूट को लेकर एक बड़ा दावा किया है। अपने एक बयान में रघुवंश सिंन ने कहा है कि आने वाले दिनों  एनडीए में फूट तय है। रघुवंश सिंह के मुताबिक जल्‍दी ही राम विलास पासवान की लोक जनश्‍क्ति पार्टी और उपेंद्र कुशवाहा की राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी महागठबंधन का हिस्‍सा होंगी।

हाजीपुर में मीडिया से बात करने के दौरान सिंह ने कहा कि RLSP के साथ सीट शेयरिंग पर बात चल रही है। जैसे ही सीटों को लेकर बात तय हो जाएगी, उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन में शामिल हो जाएंगे। वहीं राम विलास पासवान को लेकर सिंह ने कहा कि वे राजनीतिक के मौसम वैज्ञानिक माने जाते हैं। उन्‍हें महसूस हो गया है कि अगले चुनाव में नरेंद्र मोदी की सरकार नहीं बनने जा रही है। इसलिए वो भी अब एनडीए में नहीं रहेंगे। पासवान भी अब महागठबंधन में आ रहे हैं।

उधर रघुवंश प्रसाद के इस बयान पर राम विलास पासवान की प्रतिक्रिया भी सामने आई है, जिसमें उन्होंने एनडीए के एकजुट होने का दावा किया है। पासवान ने कहा कि हल्‍के विवाद तो होते ही रहते हैं, जिन्‍हें जल्‍द ही ठीक कर लिया जाएगा। वहीं एलजेपी ने ये भी साफ कर दिया है कि चुनाव में अभी वक्‍त है, इसलिए सीटों का मसला सुलझा लिया जाएगा। एलजेपी के मुताबिक आगामी लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी एनडीए का चेहरा होंगे, जबकि बिहार में नीतीश कुमार एनडीए के चुनावी चेहरा हैं। इस बीच जेडीयू ने भी रघुवंश सिंह के बयान पर पलटवार किया है। पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि रघुवंश की बातों को आरजेडी में भी लोग हल्‍के में लेते हें। हालांकि जीतन राम मांझी के महागठबंधन में आने की रघुवंश सिंह की भविष्यवाणी सच साबित हुई थी। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि इस बार उनकी बात सही होती है या नहीं।

To Top
Shares